Tuesday, September 27, 2022

सूर्य भगवान को जल देते समय कौन सा मंत्र पढ़ना चाहिए

 

नमस्कार आप सभी का स्वागत है। दोस्तों रविवार के दिन का हिंदू धर्म में बहुत अधिक महत्व है। रविवार का दिन सूर्य देव की पूजा के लिए समर्पित है। इसीलिए इस दिन मनुष्य को सूर्य देव की उपासना अवश्य ही करनी चाहिए। श्री कृष्ण ने सूर्य देव की पूजा को श्रेष्ठ बताते हुए कहा है कि जो मनुष्य सूर्य की उपासना करता है । वह कभी दरिद्री नहीं रहता है ।

सूर्य भगवान को जल देते समय कौन सा मंत्र पढ़ना चाहिए


उसे सुख समृद्धि तथा यश की प्राप्ति होती है। हिंदू धर्म में नौ ग्रहों का वर्णन किया गया है। इन सभी ग्रहों में सूर्य देव को ही सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। सूर्य देव ही नवग्रहों के स्वामी है। सूर्य से ही नौ ग्रहों को ऊर्जा प्राप्त होती है। साथ ही सूर्य देव के कारण ही पृथ्वी पर मनुष्य को भोजन प्राप्त होता है। इसीलिए सूर्य का स्थान सबसे ऊपर है। यदि मनुष्य के विवाह में देरी हो रही है अथवा व्यक्ति किसी गंभीर बीमारी से परेशान हैं। 


जिवन में धन की समस्या है कितना ही परिश्रम करने के बावजूद भी धन की प्राप्ति नहीं होती है कर संबंधी परेशानियां है। गलत जीवनसाथी मिलने के कारण जीवन में दुख और कलेश बना हुआ है तो उस मनुष्य को सूर्य देव की उपासना अवश्य ही करनी चाहिए। सूर्यदेव की उपासना से मनुष्य के समस्त प्रकार के दुखों का नाश होता है। सूर्य देव की उपासना के लिए रविवार का दिन सर्वश्रेष्ठ माना जाता है ।


सूर्य भगवान को जल देते समय कौन सा मंत्र पढ़ना चाहिए

रविवार के दिन सूर्य उपासना करने की कई विधियां हैं। अलग-अलग विधि से अलग-अलग फलों की प्राप्ति होती है। जिस मनुष्य पर सूर्य देव की कृपा होती है, ऐसा व्यक्ति व्यसनों से दूर रहता है। वह परोपकार करने वाला और सभी पर दया करने वाला होता है। ऐसे लोग क्रोधी स्वभाव के होते हैं। छोटी उम्र से ही उनका स्वभाव उग्र होता है। माता पिता की आज्ञा का पालन न करना और हर्ट करना इनके स्वभाव में होता है इन लोगों को अधिक परिश्रम किए बिना ही धन की प्राप्ति होती है। 


यह अपने जीवन में बहुत सारा धन और मान सम्मान कमाते हैं। जिन पर सूर्य मेहरबान होते हैं, उन्हें उत्तम जीवनसाथी मिलता है। विवाह के बाद भी इतना धन प्राप्त करते हैं कि हजारों मनुष्यों का पेट भर सके। सूर्यदेव इन्हें इतना देते हैं कि जितना इनकी कल्पना में भी नहीं होता है। इसीलिए शास्त्रों में कहा गया है कि जिस पर सूर्य देव प्रसन्न होते हैं, वह संसार को जीतने वाला होता है। इसीलिए प्रत्येक मनुष्य को सूर्य देव को प्रसन्न करने के लिए तरह-तरह के प्रयास अवश्य करनी चाहिए। 


आज हम आपको बताने जा रहे हैं। सूर्य देव को प्रसन्न करने का सहज और सरल उपाय कौन सा है जो रविवार के दिन करने से सूर्य देव की अपार कृपा मनुष्य को प्राप्त होती है। जो भी मनुष्य सूर्य देव को प्रसन्न करने के लिए रविवार के दिन यह एक उपाय करता है। सूर्य देव उसे संसार के सभी सुख और ऐश्वर्य प्रदान करते हैं तो चलिए जान लेते हैं। रविवार के दिन सूर्य देव की उपासना कैसे करनी चाहिए। 


सूर्य को अर्घ्य देते समय कौन सा मंत्र बोलना चाहिए

सबसे पहली बात भगवान श्री कृष्ण कहते हैं। मनुष्य को रविवार के दिन सूर्य देव को अर्घ्य देकर उनका पूजन करना चाहिए। 


सूर्यदेव को अर्घ्य देने के लिए तांबे के पात्र का प्रयोग करना ही श्रेष्ठ होता है। 


सुबह जल्दी जागकर नित्य कर्म से निवृत्त हो जाना चाहिए। 


तत्पश्चात स्नान करके स्वच्छ वस्त्र धारण करनी चाहिए। 


फिर तांबे के पात्र में शुद्ध जल भरकर उसमें चंदन और लाल पुष्प डालने चाहिए और इस जलसे सूर्यदेव को अर्घ्य देना चाहिए। 


सूर्य को अर्घ्य देते समय इस मंत्र का उच्चारण करना चाहिए। Om खोल काय स्वाहा इस प्रकार से 1 वर्ष तक भगवान सूर्यदेव की उपासना करने पर अभीष्ट मन औरतों की प्राप्ति होती है और बाद में मुक्ति भी प्राप्त होती है। 


इस विधि से पूजन करने पर रोगी रोग से मुक्त हो जाता। धन हीन धन प्राप्त करता है तथा पुत्र ही पुत्र प्राप्त करता है। इस विधि से पूजन करने पर कन्या को उत्तम वर की प्राप्ति होती है। 


कुरूप स्त्री को उत्तम सौभाग्य की तथा विद्यार्थी को सद्विद्या की प्राप्ति होती है। ऐसा सूर्य भगवान ने स्वयं अपने मुख से कहा है। 


दूसरा उपाय है। रविवार के दिन तुलसी को जल देना जो मनुष्य रविवार के दिन सूर्य देव को जल देने के साथ ही तुलसी को जल अर्पण करता है। उस पर मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है और उसे धन की प्राप्ति होती है। 


तीसरा उपाय है माथे पर चंदन लगाना जो मनुष्य रविवार को माथे पर चंदन लगाता है, उस पर सूर्य देव की कृपा सदैव ही बनी रहती है। सूर्य देव की कृपा से उस मनुष्य को यश की प्राप्ति होती है। 


चौथा उपाय है। दान करना रविवार के दिन अन्न का दान करना बहुत शुभ होता है। साथ ही जो व्यक्ति रविवार को गुड़ का दान करता है, उसे सूर्य देव की विशेष कृपा प्राप्त हो। 


गुड़ का दान करने से उत्तम स्वास्थ्य तथा सम्मान में वृद्धि होती है ।


तो दोस्तों इस प्रकार से आप रविवार के दिन सूर्य देव की उपासना अवश्य करें। उम्मीद है। आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी। हमारे साथ अंत तक बने रहने के लिए आप सभी लोगो को दिल से धन्यवाद ,,,,,,,



No comments:
Write comment