Monday, January 2, 2023

शादी के लिए लड़की में क्या क्या गुण होने चाहिए?

  

शादी हर इंसान की जिंदगी का एक बहुत ही अहम पड़ाव होता है। शादी को लेकर सभी थोड़े चिंतित होते हैं। खासकर लड़के इतने ज्यादा कंफ्यूज होते हैं की पूछो मत वो सोचते है कि जिससे उनकी शादी होगी, वह लड़की कैसी होगी या उसके साथ जीवन अच्छे से बीतेगा या कोई समस्या आएगी। इस तरह की कई सारी बातें हैं जो विवाह के समय हमारी चिंता को और बढ़ा देती है। वही शास्त्रों में भी कहा गया है ।

शादी के लिए लड़की में क्या क्या गुण होने चाहिए?

इंसान से ही शादी करनी चाहिए। नहीं तो जीवन भर कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में लोगों की टेंशन बढ़ जाती है कि कैसे जाने कि जिससे उनकी शादी हो रही है, वह उनके लिए सही है या नहीं। वैसे इसका जवाब हम तो नहीं सकते हैं, लेकिन शास्त्रों में कुछ बातें बताई गई हैं जिनके अनुसार अगर ऐसी लड़की आपको मिले तो फौरन शादी कर लेनी चाहिए। 


शादी के लिए लड़की में क्या क्या गुण होने चाहिए?

यदि कोई स्त्री कामकाजी नहीं है, लेकिन उसे घर परिवार और समाज की जानकारी रहती है तो यह एक अच्छी बात है। ऐसी स्त्रियां जागरूक रहते हैं और परिवार का मान बढ़ा देती है। विवाह के लिए स्त्री में 1 गुण अवश्य होना चाहिए। वह सभी को उचित मान-सम्मान देती हो। 


अपने से ऊंचे और नीचे दोनों तरह के लोगों को सम्मान देना चाहती हो। जो स्त्री संस्कृति और परंपराओं का पालन करती है। वह विवाह के लिए श्रेष्ठ रहती है। ऐसी पत्नी पति के लिए सौभाग्य बढ़ा देती है। पूजा पाठ से देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त करती है जिससे घर में सुख समृद्धि आती है। 


जिस स्त्री में बचत करने का गुण होता है। वह परिवार के लिए बहुत चुप रहती है। परिवार को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। ऐसी स्त्री को लक्ष्मी का स्वरूप माना गया है जिस स्त्री की आवाज मीठी हो जिसके बोलने से सुख अनुभव होता है। वह विवाह के लिए श्रेष्ठ रहती है जो स्त्री अच्छी सलाहकार हो। बुरे समय में धैर्य बनाए रखें और सही सलाह दे पाए। उससे विवाह करने में पुरुष की भलाई रहती है ।


जो स्त्री अपने भाई बहनों और सभी रिश्तेदारों के साथ अच्छा व्यवहार रहती है। सभी का ध्यान रखती है और रिश्तो को लेकर सुरक्षात्मक भाव रखती है। वह विवाह के लिए उत्तम होती है जो स्त्री अपनी मारिवाद में रहती है और घर परिवार का मान सम्मान बरकरार रखती है। वह श्रेष्ठ होती है। 


श्रेष्ठ स्त्री वही है जिसमें एम का भाव नहीं होता है जो स्त्री खुद से ज्यादा दूसरों के सुख को महत्व देती है। वह परिवार को हमेशा सुख देती है जो स्त्री बुरी से बुरी परिस्थिति में भी परिवार का साथ नहीं छोड़ते और मजबूती के साथ सभी रिश्तो को निभाती है। वह विवाह के लिए बहुत शुभ रहती है तो दर्शकों इस तरह की कन्या विवाह के लिए योग्य होती है। अगर आप भी शादी करना चाहते हैं । तो इस तरह के स्त्री से ही शादी करे ।


सूर्यास्त के समय कोण सा काम नही करना चाहिए ? 

हमारे दिन की शुरुआत सूरज के उगने से होती है, लेकिन सूर्यास्त के बाद भी हमारा काम नहीं रुकता और अक्सर यह हमारी समस्या बन जाती है। पौराणिक कथाओं और ज्योतिष के अनुसार सूर्यास्त के बाद कुछ काम नहीं करना चाहिए। लेकिन आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में हम सभी कम से कम समय में काम को पूरा करना चाहते हैं। 


इसमें हम इन सब बातों पर ध्यान नहीं देते कि कुछ काम ऐसे भी हैं जिन्हें सूर्यास्त के बाद बंद कर देना चाहिए। अगर आप लगातार परेशान रहते हैं। या आपकी समस्या ठीक नहीं हो रही है तो आपको इन गलतियों को तुरंत सुधार लेना चाहिए तो आइए हम आपको बताते हैं कि सूर्यास्त के बाद कौन से काम नहीं करने चाहिए। 


रात में कपड़े धोना 

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कपड़े धोने का सही समय सुबह का होता है। रात में कपड़े ना धुएं जब आप  सुबह कपड़े धोते हैं तो यह उन्हें धूप में सुखाने में मदद करता है। साथी जो कपड़े रात में धोए जाते हैं, उन्हें सुखाया नहीं जा सकता और उनकी महक भी नहीं जाती। ऐसा माना जाता है कि खुली हवा में सूरज ढलने के बाद कपड़े सुखाने से उनमें नकर्मक ऊर्जा प्रवेश करती है।


रात को सफेद दूध ना पिए 

 दूध नाश्ते के लिए सबसे अच्छा पै माना जाता है। इससे आपका पेट दिनभर भरा हुआ महसूस करता है। साथी शाम के समय दूध आप को नुकसान पहुंचा सकता है। दरअसल दूध की तासीर ठंडी होती है। अगर आप शाम के बाद दूध पीना चाहते हैं तो हल्दी या केसर मिलाकर ले। यह आपको स्वस्थ रखेगा । 


सूर्यास्त के बाद चंदन ना लगाएं 

चंदन बहुत से लोगों की आदत होती है कि वह सुबह नहाते नहीं है बल्कि शाम को नहाते हैं। सबसे पहले यह जान लें कि पौराणिक कथाओं के अनुसार और स्वास्थ्य की दृष्टि से सुबह स्नान करना सबसे उपयुक्त माना गया है। फिर भी अगर आप शाम को नहाते हैं तो गलती से भी सिर पर चंदन ना लगाएं क्योंकि इससे स्वास्थ्य खराब हो सकता है। 


भोजन को ढकना ना भूले 

यदि दूधिया भोजन रात में पच जाता है तो उसे खुला नहीं छोड़ना चाहिए। इसे हमेशा ढक्कन से ढक कर रखना चाहिए। अगर खुला छोड़ दिया जाए तो नकारात्मक ऊर्जा भोजन के दूध में प्रवेश कर सकती है। इसके अलावा इसमें कुछ गंदगी भी हो सकती है जो आपके शरीर पर बुरा असर डालती है। 


सूर्यास्त के बाद शेव ना करें 

पहले के जमाने में लोग शाम को बाल नहीं काटते थे। इसके पीछे की वजह सिर्फ रोशनी ही नहीं थी। यदि आप अपने बालों को छोटा करते हैं या देर शाम बाद कट्टे हैं तो इससे आपके शरीर में नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश कर सकते हैं। बाल और दाढ़ी के बाद नहाना उचित माना जाता है ये शरीर से बाल हटा देता है लेकिन रात में नहाने से बुखार और सर्दी हो सकती है। इन कारणों से सूर्यास्त के बाद यह कार्य नहीं करना चाहिए



No comments:
Write comment