Wednesday, October 19, 2022

अगले जन्म में हम क्या बनेंगे? । मैं अगले जन्म में क्या बनूंगा । क्या पति-पत्नी का पिछले जन्म का रिश्ता होता है

 

मित्रों जैसा कि हम जानते हैं कि जिसकी प्राणी ने इस धरती लोक पर जन्म लिया है उसे एक न एक दिन मरना ही पड़ता है। ऐसे में मनुष्य जीवित रहते हुए जो भी कर्म करते हैं। वही करम मृत्यु के बाद उनके साथ जाते हैं। 

अगले जन्म में हम क्या बनेंगे? । मैं अगले जन्म में क्या बनूंगा । क्या पति-पत्नी का पिछले जन्म का रिश्ता होता है

ऐसे में हिंदू धर्म शास्त्र गरूड़ पुराण की मानें तो उन्हें कर्मों के आधार पर मनुष्य को उसका अगला जन्म मिलता है। इसलिए आज की पोस्ट में हम आपको कुछ कर्मों के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसको करने के बाद आपको कुत्ता सूअर हिजड़ा इन जैसे योनियों में अगला जन्म मिलता है तो चलिए शुरू करते हैं। 


गरुड़ पुराण के अनुसार सबसे पहला कर्म मित्रों से छल करना है। दोस्तों धरती पर मित्रता को एक अनोखा रिश्ता माना गया है। मित्रता के लिए कुछ लोग अपनी जान तक दे देते हैं। भले ही उनका मित्र बुरा काम ही चोला कर रहा हूं। वही आज कुछ मित्र ऐसे भी होते हैं जो अपने हित के लिए अपने मित्र को धोखा देने यानी छल करने से भी पीछे नहीं हटते। 


मित्र से छल करने से अगला जन्म में क्या बनूँगा ? 

ऐसे मनुष्य के लिए गरुड़ पुराण में बताया गया है कि जब कोई मनुष्य अपने सच्चे मित्र के साथ छल कपट करता है तो मरने के बाद उसे नर्क तो जाना पड़ता ही है। साथ ही उसका अगला जन्म एक गिद्ध जैसी योनि में होता है ।जो सारे गारे जनवर  खायेगा। जानवरों का मांस खाकर जीवित रहते हैं।


महिलाओं को सामान नही करने से अगला जन्म में क्या जन्म मिलता है ? 

दूसरा मित्रों संसार में कई पुरुष हैं जो स्त्रियों का सम्मान करते हैं। लेकिन कई ऐसे पुरुष को देखने को मिलते हैं जो प्रत्येक स्त्री को बुरी नजर से देखते हैं और उनके मन में हर समय कामवासना ही बसी रहती है और उन्हें लगता है कि उन्हें कोई नहीं देख रहा है। 


लेकिन ऊपर वाला सब देखता है। ऐसे लोगों के संबंध में गरुड़ पुराण कहता है कि मृत्यु के बाद अगले जन्म में इनको गधे की योनि प्राप्त होती है।


महिलाओं अगर गेर संबंध बनाते है तो उसकी अगले जन्म में क्या मिलता है ? 

इसके अलावा स्त्रियों के संबंध में गरुड़ पुराण कहता है कि जो विचारणीय  होती है। अर्थात पराए पुरुष के साथ संबंध बनाती है। उसका अगला जन्म छिपकली या फिर एक चमगादड़ के रूप में होता है। 


जो लोग भगवान को नही मानते है उसको अगला जन्म में क्या मिलता है ? 

गरुड़ पुराण में चौथा कर्म धर्म का अपमान करना बताया गया है। मित्रों जीवित रहते हुए कई लोग अपने धर्म का सम्मान नहीं करते और दूसरे जो अपने धर्म का सम्मान करते हैं।उन्हें जो भी बताते हैं। ऐसे लोग ना तो भगवान पर और ना ही किसी धर्म पर विश्वास करते हैं। 


ऐसे लोगों के बारे में गरुड़ पुराण कहता है कि मृत्यु के बाद ही इन्हें नरक में सजा तो मिलती ही है। साथ ही उनका अगला जन्म एक कुत्ते के रूप में होता है। 


अन्य दान नही करने से अगला जन्म में क्या जन्म मिलती है ? 

पांचवा मित्रों अन्य दान को हमारे धर्म में सबसे बड़ा दान माना गया है। जो व्यक्ति अन्य दान करता है। वह ना सिर्फ रहना सिर्फ जीवित रहते हुए अपितु मृत्यु के बाद भी स्वर्ग पाता है। 


जो लोग अन्य चुराते है उसकी अगला जन्म क्या मिलता है ? 

वही मित्रों ऐसे लोगों की भी भरमार है जो अन्य की चोरी करके। लाभ कमाते हैं गरुड़ पुराण के अनुसार ऐसे लोगों का अगला जन्म छछूंदर या फिर चूहे के रूप में होता है।


किन्नर को गाली देने से अगले जन्म में क्या मिलता है ? 

छटा मित्रों अगर आपके घर के द्वार पर कोई किन्नर तो उसे कुछ कर देना चाहिए और कहना चाहिए। फिर आइएगा लेकिन वहीं कुछ लोग ऐसे होते हैं जो किन्नरों का मजाक उड़ाते हैं और उन्हें नीचता की दृष्टि से देखते है। ऐसे लोगों को शास्त्र के अनुसार आगरा जन्म में किन्नर के रूप में मिलता है। और ऐसा ही अपमान सहना पड़ता है। 


माता पिता और गुरु का सामान नही करने से अगले जन्म में क्या मिलता है ? 

सातवां अपनों का अनादर करना मित्रों मनुष्य अपने परिवार के नहीं रह सकता और खासकर माता पिता और गुरु के बिना तो मनुष्य के व्यक्तित्व का विकास नहीं हो सकता। परंतु आपने भी देखा या सुना तो होगा ही कि आज का अधिकतर मनुष्य माता-पिता तो छोड़िए अपने गुरुओं का भी सम्मान नहीं करते तो गरुड़ पुराण के अनुसार ऐसे मनुष्य का बार-बार जन्म तो होता है किंतु लाख कोशिश करने के बाद भी अपनी मां के गर्भ से बाहर नहीं आ पाते अभी तू करबू में उनकी मृत्यु हो जाती है। 


जो मनुष्य अपने ज्ञान को दूसरे के पास शेयर नही करता उनको अगला जन्म क्या मिलता है ? 

मित्रों इसके अलावा गरुड़ पुराण में बताया गया है कि जो मनुष्य अपने ज्ञान को दूसरों के साथ साझा नहीं करता तो उसकी इस जनम में तो छवि खराब होती ही है। साथ ही मृत्यु के बाद अगले जन्मों से बैल की योनि प्राप्त होती है। 


गालियां देने वाले को अगले जन्म में क्या मिलता है ? 

इन कर्मों के अलावा गरुड़ पुराण में यही बताया गया है कि मनुष्य को कभी भी ऐसे शब्द नहीं बोलना चाहिए जो दूसरों की भावनाओं को ठेस पहुंचाते हैं। परंतु फिर भी आपने देखा होगा कि कुछ लोग अपशब्द कहने से बाज नहीं आते है।


और छोटी-छोटी बातों पर गाली गलौज करना शुरू कर देते हैं तो ऐसे लोगों के बारे में गरुड़ पुराण में लिखा है कि मृत्यु के बाद ऐसे लोग अगले जन्म में बकरी की योनि में जन्म लेते हैं और कसाई के हाथों मारे जाते हैं । 


तो मित्रो हम आशा करते हैं कि आप इन कर्मों में से ऐसा एक भी कर्म नहीं करेंगे । तो दोस्तो इस पोस्ट को अपने परिवार के पास भी शेयर करे। और comment box में जरूर बताये । तो आज के लिए इतना ही अब चलते है। पोस्ट के अंत तक बने रहने के लिए बहुत - बहुत धन्यवाद ,,,,


अगले जन्म क्या है?अगले जन्म में हम क्या बनेंगे?   इंसान के कितने जन्म होते हैं? । भगवान अगले जन्म का फैसला कैसे करते हैं।  कुंभ राशि वाले अगले जन्म में क्या बनेंगे । मैं अगले जन्म में क्या बनूंगा।  मनुष्य जन्म कब मिलता है । तुला राशि वाले अगले जन्म में क्या बनेंगे । क्या पति-पत्नी का पिछले जन्म का रिश्ता होता है।  पुनर्जन्म होता है क्या   । पूर्व जन्म दोष

अगले जनम मोहे बिटिया ही कीजो  । मनुष्य का जन्म कैसे होता है । अगला जन्म in English।  मनुष्य जन्म क्यों मिला है । कुत्ते का जन्म क्यों मिलता है । जन्म क्या है

No comments:
Write comment