Sunday, July 10, 2022

यदि कोई पुरुष अपनी स्त्री को संतुष्ट नहीं कर सकता है, तो वह अन्य पुरुषों द्वारा संतुष्ट की जाएगी

 

नमस्कार आपका स्वागत है। म्हारा जरिए शुक्राचार्य ने अपनी नीतियों में मनुष्य जीवन को झुककर बनाने के उद्देश्य बहुत ही महत्वपूर्ण ज्ञान दिया। शुक्राचार्य ने पुरुषों का वर्णन आदमियों में किया। शुक्राचार्य भले ही दैत्यों के गुरु थे, किंतु उनकी नीतियां संसार के सर्व श्रेष्ठ कृतियों में से एक मानी गई है। 

यदि कोई पुरुष अपनी स्त्री को संतुष्ट नहीं कर सकता है, तो वह अन्य पुरुषों द्वारा संतुष्ट की जाएगी


कारण देवता के कर्मचारी की नीतियों का सम्मान करते थे जो प्रचारिणी अपनी नीतियों में स्त्री एवं पुरुष हॉकी के दुर्गुणों का वर्णन किया जिसका गुने अवश्य करना चाहिए। अपने जीवन को सुख शांति से व्यतीत कर सकते हैं, अन्यथा उन्हें दरिद्रता एवं कष्टों का सामना करना पड़ सकता है। आज इस वीडियो में हम जानेंगे। शुक्राचार्य के अलावा अन्य शक्तियों के बारे में बताया है ।


यदि कोई पुरुष अपनी स्त्री को संतुष्ट नहीं कर सकता है, तो वह अन्य पुरुषों द्वारा संतुष्ट की जाएगी

जिनके साथ वह प्रेम कर सकता। उन्होंने अपने जीवन में स्थान दे सकता है और ऐसी कौन सी क्रिया है? सावधान रहना चाहिए क्योंकि एक स्त्री पुरुष के जीवन को स्वर्ग बना सकती है। दूसरी ही होती है जो उसके जीवन को नर्क बनाने में समर्थ है क्योंकि मुंह में बड़े-बड़े विद्वान ऋषि यों ने आपा खो दिया था। बड़े बड़े राजा महाराजाओं ने अपने राज्य को दी। यहां तक कि देवताओं को भी उन्होंने मोहित करके प्रतिबंधित कर दिया। तेरी माया अपरंपार प्रतिमा को बड़े-बड़े तपस्वी ना समझ पाए तो साधारण मनुष्य की बात ही क्या सावधान होकर अपने मन को क्रिया शक्ति से दूर रख कर सदा ही कल्याणकारी कार्य करते रहना चाहिए, अन्यथा उसका विनाश हो जाएगा। 


आइए जान लेते हैं के महत्वपूर्ण उपदेश शुक्राचार्य कहते हैं। असली नाम नाम आप ही चलाती मित्रों एवं मानस अंतिम पुनर्जन्म का शाम विल अलसो लॉस्ट भगवान। एक विष पुरुष का मंत्री का नाम लेने मात्र से ही हर्ष से भर जाता। वह आनंदित होकर झूमने लगता है। मुख्यमंत्री का नाम सुनते ही उसके रूप की कल्पना करने का मन का भाव से भर जाता है। पुत्री को देखे बिना ही उसके साथ भोग विलास करने की कल्पना करने लगता है। फिर ऐसे नीच के सामने और स्त्री साक्षात प्रकट होता है या नहीं कर सकती। ऐसे नीच का भला कोई नहीं कर सकता है।  


तो दोस्तो उम्मीद करता हूं कि ये जानकारी आपको अच्छा लगा होगा । अगर आप बढ़िया से समझ नही पा रहा है।  तो आप हमारे दूसरे ब्लॉग verma news.com पर आप visit कर सकते है।  वहा पर आपको सारे जानकारी मिल जायेगा । 


तो दोस्तो उम्मीद करता हूं कि ये जानकारी आपको अच्छा लगा होगा।  तो हमारे साथ बने रहने के लिए आप सभी लोगो को दिल से धन्यवाद ,,,,,,,,,



स्त्री को जोश कब आता है?

महिला के इशारे को कैसे समझें?

विवाहित स्त्री क्यों बाहर संबंध रखती है?

No comments:
Write comment